Home ताज़ा पंजाब के बाद अब हरियाणा में सिद्धू के खिलाफ उठी आवाज, अब क्या होगा ‘सिद्धू’ का ?

पंजाब के बाद अब हरियाणा में सिद्धू के खिलाफ उठी आवाज, अब क्या होगा ‘सिद्धू’ का ?

15 second read
Comments Off on पंजाब के बाद अब हरियाणा में सिद्धू के खिलाफ उठी आवाज, अब क्या होगा ‘सिद्धू’ का ?
0
58

लगता है कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू के ग्रह नक्षत्र इन दिनों अच्छे नहीं चल रहे हैं। चुटीले अंदाज में विरोधियों पर निशाना साधना ही सिद्धू की यूएसपी रही है। सिद्धू बीजेपी में जब तक रहे, पार्टी के स्टार प्रचारक रहे, लेकिन कांग्रेस में जाने के बाद से ही उनके साथ कुछ भी ठीक नहीं हो रहा है। पंजाब के CM अमरिंदर सिंह से मनमुटाव के चलते, उन्हें मंत्रीपद से इस्तीफा देना पड़ा और अब चुनावों में उनकी डिमांड भी कम हो गई है।

दऱअसल हरियाणा कांग्रेस के कई बड़े नेता नवजोत सिंह सिद्धू से विधानसभा चुनाव में प्रचार नहीं कराना चाहते हैं। खबर है कि विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस के कई नेताओं ने सिद्धू के खिलाफ आलाकमान से शिकायत की है। इन नेताओं ने आलाकमान से गुहार लगाई है कि हम अपने क्षेत्र में सिद्धू से चुनाव प्रचार नहीं कराना चाहते। ऐसे में उन्हें स्टार प्रचारक के तौर पर न भेजा जाए। मिली जानकारी के मुताबिक, शिकायत करने वालों में हरियाणा के नेता प्रमुख तौर पर शामिल हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक कांग्रेस के कई सीनियर नेताओं ने आलाकमान से कहा कि, सिद्धू की पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से दोस्ती और पाक आर्मी चीफ जनरल बाजवा से गले मिलने की वजह से बनी राष्ट्र विरोधी इमेज का असर पड़ सकता है। राष्ट्रवाद के मुद्दे पर बुरी तरह घिरे सिद्धू से किसी संभावित नुकसान से बचने के लिए हरियाणा कांग्रेस के कई सीनियर नेता नहीं चाहते, कि सिद्धू से हरियाणा में चुनाव प्रचार करवाया जाए।

खबरों की मानें तो पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री सिद्धू को लेकर नेताओं का कहना है कि, 2019 के लोकसभा चुनाव में वे जहां भी प्रचार करने गए, पार्टी को हार मिली। हरियाणा के रोहतक में सिद्धू की एक जनसभा के दौरान लोगों ने पाकिस्तान और सिद्धू के खिलाफ नारेबाजी की। इसी सभा के दौरान एक महिला ने उनपर चप्पल फेंकने की कोशिश भी की थी। नेताओं को लग रहा है कि सिद्धू के आने से राष्ट्रवाद के मुद्दे पर विपक्ष उन्हें घेर सकता है।

आपको बता दें कि हरियाणा विधानसभा चुनाव के होने में अब मजह कुछ दिनों का वक्त बाकी रह गया है। चुनाव प्रचार भी जोर पकड़ने लगा है। लेकिन उससे पहले ही जिस तरह सिद्धू का विरोध शुरू हो गया है, उससे ये कहना गलत नहीं होगा कि सिद्धू के लिए अपनी ही पार्टी में राह मुश्किल होती जा रही है।

Facebook Comments
Comments are closed.

Check Also

क्या हरियाणा में बीजेपी की उम्मीदों पर फिरने वाला है पानी ? क्या मोड़ लेगी हरियाणा की राजनीति…

हरियाणा की गद्दी पर कौन बैठेगा, इसका पता 24 अक्टूबर को बता चल जाएगा। चुनाव बाद सामने आए एग…