Home लाइफस्टाइल यदि आप भी कर रहे है प्रोटीन पाउडर का इस्तेमाल तो हो जाये सावधान

यदि आप भी कर रहे है प्रोटीन पाउडर का इस्तेमाल तो हो जाये सावधान

7 second read

आजकल बढ़ते फैशन के चलते युवा आकर्षक दिखने के लिए कुछ भी करने को तैयार रहते हैं। भारी भरकम शरीर बनाना, बॉडी बनाना एक फैशन बन गया है। आजकल यह पागलपन युवाओं में ज्यादा दिखाई दे रहा है। युवा बॉडी बनाने के लिए जिम जाते हैं और ट्रेनर की सलाह पर या दूसरों की देखा सीखी प्रोटीन पाउडर का सेवन करने लगते हैं, तो कुछ लोग शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए इन सप्पलीमेंट्स का सहारा लेते हैं। उन्हें यह विकल्प सबसे सही लगता है। वो यह नही जानते कि उनका यह करना उनके शरीर के लिए कितना हानिकारक है।

 

protin-powder

प्रोटीन पाउडर एक प्रकार का सप्लीमेंट होते हैं जो शरीर के मांशपेशियों और हड्डियों के विकास में मदद करता है और शारीरिक रूप से मजबूत बनाता है। वैसे ये प्रोटीन पाउडर मटर, चावल, आलू और सोयाबीन को सुखाकर बनाये जाते हैं पर इसे लंबे समय तक सुरक्षित रखने के लिए इसमें शक़्कर, कलर, कृत्रिम गंध , विटामिन्स मिलाये जाते हैं।

Read More :- प्रियंका ने निक को किया लिप किस, साफ की होठों की लिपिस्टिक, वीडियों वायरल

आपको ये प्रोटीन पाउडर बाजार में आसानी से मिल जाएंगे। लगातार यदि आप अपने आपको आकर्षक बनाने के लिए इसका सेवन कर रहे हैं तो हो जाये सावधान, क्योंकि इसके हानिकारक दुष्परिणाम हो सकते हैं।

 

protin-powder

 

प्रोटीन पाउडर पीने के दुष्परिणाम:

  • लगातार प्रोटीन सप्पलीमेंट पाउडर या कैप्सूल के रूप में लेने से शरीर में हार्मोनल बदलाव आने लगते हैं , जिसके कारण कई प्रकार की बीमारियों जैसे त्वचा पर दाने , मुहांसे, आने की समस्या होने लगती है।
  • हम खुद को आकर्षक दिखाने के लिए इसका सेवन करते हैं लेकिन इसका लगातार सेवन हमारे आंतों में समस्या आने लगती है, पाचन क्रिया प्रभावित होने लगती है । एसिडिटी , गैस , ऐंठन, उल्टी की समस्या होने लगती है। कुछ प्रोटीन पाउडर में स्वाद बढ़ाने के लिए ज्यादा शक्कर अलग से मिलाई जाती है जो मोटापा कम करने के बदले वजन बढ़ाने लगते हैं।
  • नियमित रूप से इसके उपयोग से शरीर में इंसुलिन की मात्रा बढ़ने लगती है, जो लंबे समय में गंभीर बीमारियों के कारण बन जाती है। समय के साथ हड्डियां कमजोर होने लगती है।
  • कुछ प्रोटीन पाउडर में जल्दी मांसपेशियों के विकास के लिए हनिकारक विषाक्त पदार्थ मिलाये जाते हैं, जो शरीर में कई समस्याओं को जन्म देता है जैसे सरदर्द कब्ज, हाथ-पैरों में दर्द आदि। इसलिए यदि आप प्रोटीन पाउडर का इस्तेमाल कर रहे हैं तो सोच समझ कर अच्छी गुणवक्ता वाले प्रोटीन पाउडर का ही इस्तेमाल करें।
  • कृत्रिम प्रोटीन पाउडर के उपयोग से शरीर के पोषक तत्वों में असंतुलन उत्पन्न हो जाता है। इसलिए हमेशा प्राकृतिक प्रोटीन जैसे दूध, दही, पनीर, अंडे, दाल, अनाज, का उपयोग करना चाहिए, जिसके सेवन से शरीर पर कोई हानिकारक दुष्प्रभाव नही पड़ता है।
  • प्रोटीन पाउडर में मौजूद वसा , कोलेस्ट्रॉल से हार्ट की समस्या से रूबरू होना पड़ सकता है , साथ ही शुगर की समस्या हो सकती है। इसलिए बिना किसी अच्छे डॉक्टर से सलाह लिए बिना कोई भी प्रोटीन पाउडर का उपयोग नियमित रूप से नही करें।
  • कुछ शोध बताते हैं कि लगातार सोया प्रोटीन पाउडर के उपयोग से कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है। बेहतर होगा आप सोया प्रोटीन पाउडर के उपयोग करने से पहले उसकी गुणवत्ता की  जांच अच्छे से कर लें और सीमित मात्रा में ही इसका उपयोग करें|
Load More Related Articles
Load More By Anjali pandey
Load More In लाइफस्टाइल

Check Also

मूवी रिव्यु: हंसाती ,बेहतरीन स्टारकास्ट , और समाज में बदलाव का मैसेज देती आयुष्मान की फिल्म शुभ मंगल ज्यादा सावधान

दर्शकों को तो आयुष्मान की फ़िल्म का बेसब्री से इंतजार रहता है और आयुष्मान की बहुप्रतिक्षित …