Home ताज़ा वकीलों की ‘गुंडागर्दी’ से नाराज दिल्ली पुलिस का प्रदर्शन…

वकीलों की ‘गुंडागर्दी’ से नाराज दिल्ली पुलिस का प्रदर्शन…

8 second read
Comments Off on वकीलों की ‘गुंडागर्दी’ से नाराज दिल्ली पुलिस का प्रदर्शन…
0
77

दिल्ली की तीस हज़ारी कोर्ट में वकीलों और पुलिस की झड़प का विवाद थमता नज़र नहीं आ रहा है। तीस हजारी कोर्ट के बाद वकीलों ने एक ओर जहां दिल्ली के ही साकेत कोर्ट में जमकर उत्पात मचाया, तो वहीं वकीलों की इस गुंडागर्दी के खिलाफ वर्दीवाले भी अब सड़क पर उतर आए हैं।

जी हां, दिल्ली पुलिस के जवानों ने आईटीओ स्थित पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। इस दौरान दिल्ली पुलिस के जवानों ने सड़क को ब्लॉक कर दिया, और हाथ पर काली पट्टी बांधकर धरने पर बैठक गए। हालांकि हालात को संभालने के लिए पुलिस के आला अधिकारियों ने नाराज जवानों को मनाने की कोशिश की, मगर वे मानने को तैयार नहीं हुए। इन सभी पुलिस वालों ने अपने हाथ में प्लेकार्ड पकड़े थे, जिन पर कई तरह के नारे लिखे थे। पुलिस वालों का कहना था कि हम इंसाफ में बराबरी की मांग कर रहे हैं।

बाद में प्रदर्शन करने आए पुलिस वालों से डीसीपी ईश सिंघल ने बात की। उन्होंने कहा कि सभी सीनियर अधिकारियों को आपती चिंता है, मैं आपको विश्वास दिलाता हूं, आपका यहां आना बेकार नहीं जाएगा। हम अपना काम ना छोड़ें और सीनियर्स को मौका दें, ताकि वो उचित कदम उठा सके। आपका गुस्सा भी बेकार नहीं जाएगा। मगर जब प्रदर्शनकारी इस पर भी नहीं माने, तो फिर दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक को सामने आना पड़ा। पुलिस वालों को संबोधित करते हुए पुलिस प्रमुख ने कहा कि आप सभी शांति बनाए रखें। सरकार और जनता को हमसे उम्मीदें है।

हमारे लिए परीक्षा, अपेक्षा और प्रतीक्षा की घड़ी है। आप सभी ड्यूटी पर वापस जाए, हमें अनुशासन बनाए रखना है। इसकी जांच हो रही है। लेकिन भाषण के दौरान भी जवान नारेबाजी करते रहे। उधर हालात पर गृह मंत्रालय की भी नजर है और दिल्ली पुलिस से रिपोर्ट मांगी गई है। मंत्रालय ने कोर्ट में हिंसा के मामले में अब तक के ऐक्शन की पूरी रिपोर्ट मांगी है।

आपको बता दें कि बीते दिनों तीस हजारी कोर्ट में पार्किंग को लेकर हुए विवाद में पुलिस और वकीलों के बीच भिड़ंत हो गई, बाद में वकीलों ने आगजनी की, जिस पर पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। बस इसी वजह से ये विवाद बढ़ता चला गया, जो कि एक कोर्ट से दूसरी कोर्ट और एक शहर से दूसरे शहर तक पहुंच गया।

Check Also

क्या महाराष्ट्र में बिना BJP के सरकार बनाना शिवसेना का आखिरी सुसाइड है ?

क्या महाराष्ट्र में बिना BJP के सरकार बनाना शिवसेना का आखिरी सुसाइड है ? तो क्या मुख्यमंत्…