Home पॉलिटिक्स भारत को स्विस बैंक में जमा भारतीयों के काले धन पर ‘मोदी सरकार’ की बड़ी जीत

भारत को स्विस बैंक में जमा भारतीयों के काले धन पर ‘मोदी सरकार’ की बड़ी जीत

16 second read
Comments Off on भारत को स्विस बैंक में जमा भारतीयों के काले धन पर ‘मोदी सरकार’ की बड़ी जीत
0
46
swiss bank

विदेशी बैंक में जमा काले धन को लेकर मोदी सरकार को बड़ी कामयाबी मिली है। ये कामयाबी स्विस बैंक की ओर से मिला है, जिसने बैंक में जमा भारतीयों के काले धन से जुड़ा पहले दौर का विवरण स्विट्जरलैंड ने सौंप दिया है। बताया जा रहा है कि स्विस बैंक की ओर से मिले ब्योरे में सक्रिय खातों की भी जानकारी शामिल है।

दऱअसल ये सूचना भारत को स्विटजरलैंड सरकार ने ऑटोमेटिक एक्सचेंज ऑफ इन्फॉर्मेशन की नई व्यवस्था के तहत दी है। इन जानकारियों में आइडेंटिफिकेशन, खाते और पैसों से जुड़ी जानकारी शामिल हैं। इनमें नाम, पता, नैशनलिटी, टैक्स आइडेंटिफिकेशन नंबर, वित्तीय संस्थानों से जुड़ी सूचनाएं, खाते में पड़े पैसे और कैपिटल इनकम शामिल हैं। स्विट्जरलैंड के टैक्स विभाग के अनुसार, इसके बाद भारत सरकार को अगली जानकारी 2020 में सौंपी जाएगी। जानकारी के अनुसार, स्विट्जरलैंड में दुनिया के 75 देशों के करीब 31 लाख खाते हैं, जो रडार पर हैं, इनमें भारत के कई खाते भी शामिल हैं।

उधर स्विट्जरलैंड सरकार की ओर से जानकारी मिलने के बाद सरकारी सूत्रों का कहना है कि, जो जानकारी मिली है, उसमें सभी खाते गैरकानूनी नहीं हैं। सरकारी एजेंसियां अब इस मामले में जांच शुरू करेंगी, जिसमें खाताधारकों के नाम, उनके खाते की जानकारी को बटोरा जाएगा और कानून के हिसाब से एक्शन लिया जाएगा। इससे पहले जून 2019 में स्विस नेशनल बैंक की ओर से जारी रिपोर्ट में बताया गया था, कि स्विस बैंकों में भारतीयों की ओर से जमा राशि में गिरावट आई है। 2018 के आंकड़ों के मुताबिक भारतीयों का अब 6 हजार 7 सौ 57 करोड़ रुपये ही स्विस बैंकों में जमा है। हालांकि, इसमें से कितना काला धन है और कितना नहीं, इसकी जानकारी स्विस बैंकों की ओर से नहीं दी गई थी।

पिछली रिपोर्ट में भी ये सामने आया था कि स्विट्जरलैंड की ओर से भारत को सौंपी गई जानकारी में, इतनी तो सूचना है कि वहां बैंकों में पैसा रखने वालों के खिलाफ मजबूत केस तैयार किया जा सके। आपको बता दें कि विदेश में जमा काला धन वापस हिंदुस्तान लाना मोदी सरकार के लिए बड़ा मुद्दा रहा है, फिर चाहे वो 2014 का चुनाव हो, या फिर 2019 का चुनाव, जानकारी बटोरने के लिए सरकार की ओर से लगातार स्विट्जरलैंड की सरकार से संपर्क भी किया जा रहा था। लेकिन काले धन के खिलाफ इस लड़ाई में मोदी सरकार को अब जाकर कामयाबी मिली है।

Read More: मुंबई के आरे में 2500 पेड़ों की कटाई पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

Facebook Comments
Comments are closed.

Check Also

क्या हरियाणा में बीजेपी की उम्मीदों पर फिरने वाला है पानी ? क्या मोड़ लेगी हरियाणा की राजनीति…

हरियाणा की गद्दी पर कौन बैठेगा, इसका पता 24 अक्टूबर को बता चल जाएगा। चुनाव बाद सामने आए एग…