Home ताज़ा BSP प्रमुख मायावती ने क्यों बोला विपक्ष और कांग्रेस पर हमला?, क्या कश्मीर है वजह…

BSP प्रमुख मायावती ने क्यों बोला विपक्ष और कांग्रेस पर हमला?, क्या कश्मीर है वजह…

4 second read
Comments Off on BSP प्रमुख मायावती ने क्यों बोला विपक्ष और कांग्रेस पर हमला?, क्या कश्मीर है वजह…
0
93

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के मोदी सरकार के फैसले से जहां पाकिस्तान बिलबिलाया हुआ है, तो वहीं देश के भीतर भी इस पर खूब सियासत हो रही है। हाल ही में विपक्षी दलों के एक प्रतिनिधिमंडल हालात का जायजा लेने कश्मीर गया था। लेकिन उसे श्रीनगर एयरपोर्ट से ही बैरंग लौटा गिया गया। इन सबके बीच इस मुद्दे पर अब विपक्ष में ही फूट पड़ता दिखाई दे रहा है।

दरअसल कश्मीर को लेकर विपक्षी दलों की सियासत पर बीएसपी चीफ मायावती ने जमकर निशाना साधा है। मायावती ने जहां इसे बिना सोचे-समझे लिया गया फैसला करार दिया, तो वहीं कांग्रेस नेता समेत अन्य विपक्षी नेताओं को जमकर खरी-खोटी सुनाई। मायावत ने इशारों-इशारों में विपक्षी नेताओं के जम्मू-कश्मीर जाने के फैसले को गलत ठहराते हुए कहा कि इससे वहां केंद्र और राज्यपाल सत्यपाल मलिक को राजनीति करने का मौका मिल रहा है। बकौल माया राज्य से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद हालात सामान्य होने में थोड़ा वक्त लगेगा। अपने एक ट्वीट में मायावती ने लिखा-

देश में संविधान लागू होने के लगभग 69 सालों बाद, इसे खत्म के बाद अब वहां पर हालात सामान्य होने में थोड़ा समय अवश्य ही लगेगा। इसका थोड़ा इंतजार किया जाए तो बेहतर है, जिसको माननीय कोर्ट ने भी माना है।

वहीं अपने दूसरे ट्वीट में विपक्ष पर हमला बोलते हुए मायावती ने लिखा –

अभी हाल ही में बिना अनुमति के कांग्रेस और अन्य पार्टियों के नेताओं का कश्मीर जाना क्या केंद्र और वहां के गवर्नर को राजनीति करने का मौका देने जैसा इनका ये कदम नहीं है? वहां पर जाने से पहले इस पर भी थोड़ा विचार कर लिया जाता, तो ये उचित होता।

आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के फैसले से नाराज कांग्रेस लगातार किसी न किसी बहाने केंद्र सरकार पर हमला बोल रही है। घाटी में सुरक्षा बलों की तैनाती को लेकर हालात को काबू में रखने के इंतजामों पर भी सवाल उठा रही है।

हाल ही में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा था कि कश्मीर के लोगों के लोकतांत्रिक अधिकारों को कथित तौर पर ताक पर रखने से ज्यादा कुछ भी ‘राजनीतिक’ और ‘राष्ट्रद्रोह’ नहीं है। हाल ही में जब विपक्षी दलों के नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस लौटाया गया, तो राहुल गांधी ने सरकार के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया। लेकिन कांग्रेस समेत विपक्षी दलों का ऐसा करना मायावती को रास नहीं आया।

Check Also

क्या महाराष्ट्र में बिना BJP के सरकार बनाना शिवसेना का आखिरी सुसाइड है ?

क्या महाराष्ट्र में बिना BJP के सरकार बनाना शिवसेना का आखिरी सुसाइड है ? तो क्या मुख्यमंत्…