Home ताज़ा आज है साल 2019 का अंतिम सूर्यग्रहण, जाने क्यों है बेहद खास

आज है साल 2019 का अंतिम सूर्यग्रहण, जाने क्यों है बेहद खास

4 second read
Solar eclipse

आज यानी 26  दिसम्बर को साल 2019 का सबसे आखरी और तीसरा सूर्य ग्रहण लगने वाला है। इस साल का पहला सूर्य ग्रहण जनवरी में लगा था, दूसरा सूर्य ग्रहण जून में दिखाई दिया था। अब इस साल का अंतिम और तीसरा सूर्य ग्रहण आज 26 दिसंबर को दिखने वाला है। वैज्ञानिक के अनुसार यह सूर्य ग्रहण बेहद खास है। आज सूर्य एक अनोखी आग की रिंग की तरह नजर आयेगा, क्योंकि आज सिर्फ सूर्य का मध्य भाग हीं छाया के छेत्र मे छिप जाएगा। बल्कि किनारे के हिस्से सूर्य की तपन से प्रकाशीत रहेंगे। जिससे सूर्य जलते हुए रिंग की तरह दिखाई देगा। इस वलयकार सूर्य को वैज्ञानिक रिंग ऑफ फायर का नाम दे रहे हैं। वलयकार सूर्यग्रहण बेहद आकर्षक और खास दिखाई देता है।

2019 का यह अंतिम सूर्य ग्रहण विश्व के लगभग हर हिस्सों में दिखाई देगा। आज का सूर्यग्रहण भारत, सऊदी अरब, कतर, इंडोनेशिया, श्रीलंका, सुमात्रा, मलेशिया, फिलीपींस, सिंगापुर, और गुआम में नजर आएगा। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया, और अफ्रीका के कुछ हिस्सों में भी सूर्यग्रहण आंशिक रूप से दिखाई देगा।

solar-eclipse-

भारत में सूर्य ग्रहण सुबह 8:00 बजे से शुरू होगा। ये 5 घंटे 36 मिनट तक रहेगा। हिंदू मान्यताओं के अनुसार सूर्य ग्रहण का सूतक काल 25 दिसंबर को रात 8:00 बजे से शुरू हो चुका है। इस सूतक में कोई भी शुभ कार्य करना अच्छा नहीं माना जाता है। हिंदू धर्म में सूतक काल सूर्य ग्रहण के ठीक 12 घंटे पहले से शुरू होता है, इसे सूतक काल कहा जाता है। इस दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता। सूर्य ग्रहण की 5 घंटे और 36 मिनट अवधि भी शुभ नहीं मानी जाती है। इसके खत्म होने के बाद स्नान करके घर के हर शुभ स्थान की साफ सफाई की जाती है, और गंगाजल का छिड़काव करने का भी नियम है।

भारत में सूर्य ग्रहण के इस नजारे को 8:00 बजे सुबह से देख सकते हैं इस समय सूर्य ग्रहण की आंशिक अवस्था शुरू हो जाएगी। वलयाकार सूर्य ग्रहण को 9:06 सुबह  भारत में देख सकते है। सूर्य ग्रहण का वलयाकार 12:29 पर समाप्त हो जाएगा। जबकि ग्रहण 1:36 तक बना रहेगा।

भारत में अलग-अलग स्थानों पर सूर्य ग्रहण के अलग-अलग दृश्य देखने को मिलेंगे। बेंगलुरु में इसका असर 89.4 प्रतिशत दिखाई देगा। जबकि चेन्नई में 84.6 प्रतिशत सूर्य ढका हुआ दिखाई देगा। वही अहमदाबाद में सूर्य करीब 66% छिपा रहेगा, दिल्ली में सिर्फ 55.5% हिस्सा छिपा दिखेगा।

सूर्य ग्रहण के समय सूर्य से कुछ हानिकारक किरणें निकलती है। इस लिए सूर्यग्रहण के नजारे को नग्न आंखों से ना देखें। सनग्लासेस पहनकर ही सूर्य ग्रहण को देखें। वैसे तो कई वेबसाइट के जरिए आसानी से सूर्य ग्रहण को अपने स्मार्टफोन पर भी देखा जा सकता है।

Load More Related Articles
Load More By suman rajawat
Load More In ताज़ा

Check Also

बहुत अधिक मात्रा में विटामिन सी का सेवन हो सकता है, आपके सेहत के लिए नुकसानदायक

अक्सर हमने सुन रखा है कि विटामिन सी हमारे शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। वि…