Home दुनिया भारत के वो अस्त्र जो पाकिस्तान पर कहर बनकर टूटेंगे !

भारत के वो अस्त्र जो पाकिस्तान पर कहर बनकर टूटेंगे !

24 second read
Comments Off on भारत के वो अस्त्र जो पाकिस्तान पर कहर बनकर टूटेंगे !
0
90

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद से ही पाकिस्तान लगातार युद्ध की धमकियां दे रहा हैं। लेकिन ऐसा करने से पहले ये नहीं सोचता है कि युद्ध के मैदान में वो भारत के आगे कितनी देर तक टिक पाएगा। क्योंकि सैन्य ताकत के मामले में भारत दुनिया का चौथा सबसे बड़ा देश है। ऐसे में आइए जानते हैं भारत के उन 5 हथियारों के बारे में जिसके एक वार से पाकिस्तान थर्रा उठेगा।

नंबर एक- अपाचे AH-64 E

दुनिया का सबसे खतरनाक अटैक हेलिकॉप्टर अपाचे भारतीय सेना में शामिल हो चुका है। अपाचे सोमालिया, इराक और अफगानिस्तान के युद्ध में अपनी ताकत दिखा चुके हैं। ये हेलिकॉप्टर दो मिनट के भीतर अपनी 30 mm कैनन से 1200 राउंड फायरिंग कर सकता है। ये 70 mm रॉकेट से भी लैस है। हेलफायर मिसाइल के अलावा अपाचे एक बार में 80 रॉकेट लॉन्च कर सकता है।

नंबर दो- राफेल

करीब 19 साल के लंबे इंतजार के बाद भारतीय वायुसेना को राफेल फाइटर जेट मिलने वाला है। लेटेस्ट एविनिक्स और मिसाइल सिस्टम की वजह से ये वायुसेना का सबसे ताकतवर एयरक्राफ्ट बन जाएगा। इसकी तुलना अमेरिका के पांचवी जेनरेशन के फाइटर जेट एफ-35 पांचवीं से भी की जाती है। राफेल के सामने पाकिस्तान के एफ-16 विमान की ताकत कुछ भी नहीं है।

नंबर तीन- S-400 एंटी-बैलेस्टिक मिसाइल सिस्टम

S-400 की पहली खेप भारत को 2020 में मिल जाएगी। S-400 लॉन्ग-रेंज एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम दुश्मन के आने वाले लड़ाकू विमानों, मिसाइलों और यहां तक कि 400 किलोमीटर तक की ऊंचाई पर उड़ रहे ड्रोन को नष्ट कर सकता है। S-400 के पास अमेरिका के सबसे आधुनिक फाइटर जेट एफ-35 को गिराने की भी क्षमता है। S-400 पाक या चीन की न्यूक्लियर पावर्ड बैलिस्टिक मिसाइलों से भी बचाएगा। ये एक तरह का मिसाइल शील्ड है।

नंबर चार- INS अरिहंत

अरिहंत का मतलब ही है दुश्मनों को खत्म करने वाला। INS अरिहंत भारत की परमाणु क्षमता से युक्त बैलेस्टिक मिसाइल पनडुब्बी है। करीब 600 टन वजनी वाली ये पनडुब्बी अरिहंत में छोटी K-15 मिसाइल या 4 बड़ी K-4 मिसाइलें ले जाने में सक्षम हैं। K-4 मिसाइल की रेंज 3500 किमी तक है।

और नंबर पांच- ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल

ब्रह्मोस दुनिया की अत्याधुनिक मिसाइलों में से एक है। ये जमीन और समुद्र में टारगेट को तबाह कर सकती है। ब्रह्मोस 3700 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से 290 किलोमीटर तक के ठिकानों पर अटैक कर सकती है। ब्रह्मोस के अचूक निशाने की वजह से ही इसके बारे में कहा जाता है कि दागो और भूल जाओ। तेज गति से हमले के मामले में दुनिया की कोई भी मिसाइल इसकी बराबरी नहीं कर सकती।

Check Also

क्या महाराष्ट्र में बिना BJP के सरकार बनाना शिवसेना का आखिरी सुसाइड है ?

क्या महाराष्ट्र में बिना BJP के सरकार बनाना शिवसेना का आखिरी सुसाइड है ? तो क्या मुख्यमंत्…