Home ताज़ा बहुत अधिक मात्रा में विटामिन सी का सेवन हो सकता है, आपके सेहत के लिए नुकसानदायक

बहुत अधिक मात्रा में विटामिन सी का सेवन हो सकता है, आपके सेहत के लिए नुकसानदायक

2 second read

अक्सर हमने सुन रखा है कि विटामिन सी हमारे शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। विटामिन सी को एस्कोरबिक एसिड भी कहते हैं। यह एंटीऑक्सीडेंट गुण वाला एक तरह का शुगर एसिड है। विटामिन सी पानी में बहुत आसानी से घुल जाता है। यह हमारे शरीर के अंदर कोलेजन का निर्माण करता है। इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत बनाता है, हड्डीयों, त्वचा की देखभाल करता है और हमें कई तरह की गंभीर बीमारियों से भी बचाता है।

पर क्या आप जानते हैं कि विटामिन सी हमारे शरीर के लिए जितना ज्यादा जरूरी है उतना ही ज्यादा यह नुकसानदायक भी हो सकता है। विटामिन सी का अधिक मात्रा से सेवन करने से आपको कई तरह की समस्याएं हो सकती है। इसलिए यह जानना जरूरी है कि एक व्यक्ति को विटामिन सी की कितनी मात्रा स्वस्थ रहने के लिए जरूरी है।

अब ये जान ले विटामिन सी का एक व्यस्क को दैनिक जीवन में सिर्फ 65 से 90 मिलीग्राम ही सेवन करना चाहिए, बच्चों के लिए इसकी मात्रा से कम हो जाती है। यहां पर यह समझना भी जरूरी है कि अक्सर लोग किसी भी विटामिन की मात्रा की पूर्ति करने के लिए, नेचुरल खाद्य पदार्थों की जगह विटामिन सप्लीमेंट यानी की दवाइयों के रूप में विटामिंस की पूर्ति करते हैं। हम यहां जिन नुकसान की बात कर रहे हैं वह विटामिन सी की दवाइयों के रूप में अधिक ली गई खुराक के बारे में है, ना कि नेचुरल खाद्य पदार्थों से ली गई भरपूर मात्रा से।

विटामिन सी का अधिक उपयोग करने के दुष्परिणामः

1. पाचन से जुड़ी समस्याः

अगर आप 1 दिन में विटामिन सी को दवाइयों या  विटामिन सी  खुराक के रूप में 1500 मिलीग्राम से ज्यादा लेते हैं। तो इससे आपको पाचन से जुड़ी समस्याएं हो सकती है। अधिक मात्रा में विटामिन सी की मात्रा शरीर में पहुंचने से उल्टी और दस्त जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

2. आयरन की अधिकताः

विटामिन सी हमारे शरीर में एक महत्वपूर्ण काम करता है यह आयरन के अवशोषण में मदद करता है। लेकिन विटामिन सी नॉन हीम आयरन को बांधने की क्षमता भी रखता है। ऐसे में विटामिन सी की बहुत अधिक शरीर में मात्रा होने पर यह नॉन हीम आयरन को भी बहुत अधिक मात्रा में बांध लेता है। जिससे शरीर में आयरन का स्तर बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। जो हृदय, थायराइड, केंद्रीय तंत्रिका तंत्र और मस्तिष्क के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

3. पथरी की समस्याः

विटामिन सी बहुत अधिक मात्रा मे शरीर में मौजूद होने पर किडनी में पथरी की समस्या खड़ी हो सकती है। विटामिन सी बहुत अधिक मात्रा में होने पर यूरिन में ऑक्सालेट बढ़ जाता है जो किडनी में पथरी को बढ़ा सकता है।

ना ही सिर्फ विटामिन सी बल्कि किसी भी विटामिन, मिनरल्स, पोषक तत्वों की पूर्ति के लिए सबसे सही तरीका है कि उन्हें नेचुरल खाद्य पदार्थों के जरिए लिया जाए| ना कि  विटामिन सप्लीमेंट, दवाइयां या खुराक के रूप में।

नींबू, संतरा, कीवी, ब्रोकली, गोभी, हरी मिर्च, लाल मिर्च, पालक, पत्तेदार सब्जी, टमाटर, स्ट्रॉबेरी, ब्रूसेल इन सभी में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। तो सप्लीमेंट की जगह इन खाद्य पदार्थों से अपने शरीर में विटामिंस की पूर्ति करें और स्वस्थ रहें।

Load More Related Articles
Load More By suman rajawat
Load More In ताज़ा

Check Also

आज है साल 2019 का अंतिम सूर्यग्रहण, जाने क्यों है बेहद खास

आज यानी 26  दिसम्बर को साल 2019 का सबसे आखरी और तीसरा सूर्य ग्रहण लगने वाला है। इस साल का …