18 June 2021

Honeytrap case of 2019 opened again: SIT sent notice to Kamal Nath, फिर खुला 2019 का हनीट्रेप केसः एसआईटी ने कमलनाथ को भेजा नोटिस

कांग्रेस नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की मुश्किलें बढ़ सकती है। 2 साल पुराने हनीट्रैप मामले में एसआईटी ने उन्हें नोटिस जारी किया है। दसअसल कमलनाथ ने हनी ट्रैप से जुड़ी एक पेन ड्राइव का जिक्र किया था जिसे लेकर अब उन्हें नोटिस जारी किया गया है।

बताते चलें कि कुछ दिन पहले कांग्रेस के एक विधायक पर केस दर्ज होने के बाद कमलनाथ ने उनका बचाव करते हुए कहा था कि अगर प्रताड़ित किया गया तो उनके पास भी हनीट्रेप का पेन ड्राइव है। गौरतलब है कि कांग्रेस नेता पूर्व मंत्री उमंग सिंघार की महिला मित्र ने भोपाल में खुदकुशी कर ली थी। वो मोहाली की रहने वाली थी। बताया जा रहा था कि कुछ दिनों बाद वो उससे शादी करने के वाले थे। खुदकुशी के अगले दिन पुलिस ने उमंग सिंघार के ऊपर केस दर्ज कर लिय़ा था।

जिसके बाद कमलनाथ उनके बचाव में आए थे उन्होंने कहा था कि अगर उमंग सिंघार को परेशान किया गया तो हमारे पास भी हनीट्रैप की पेन ड्राइव है। जिसके बाद विवाद बढ़ने लगा और एसआईटी की तरफ से उन्हें नोटिस जारी किया गया है। उमंग सिंघार के प्रकरण पर कमलनाथ ने कहा था कि लड़की के परिजनों की तरफ से कोई बयान नहीं दिया गया है। जिससे उमंग पर मामला दर्ज हो। ये राजनीति से प्रेरित केस है। जिसे वापस लेना चाहिए।

बताते चलें कि दो साल पहले उठे हनी ट्रैप कांड में आरोप है कि कई नेता और अफसरों की महिलाओं के साथ की आपत्तिजनक वीडियो है। इस मामले की कोर्ट में सुनवाई चल रही है।

यह मामला 2019 का है जिसमें कहा जाता है कि कुछ महिलाओं ने प्रदेश के कुछ राजनेताओं और अधिकारियो को अपने जाल में घेरकर सीडी बनायी थी, बदले में उन लोगों से पैंसे ऐंठे गए थे। इस केस में कुछ महिलाओं की गिरफ्तारी भी हुई थी जिसकी सुनवाई इंदौर की एक अदालत में चल रही है।

इस बीच, कमलनाथ ने रविवार को मुरैना में संवाददाताओं से कहा कि वह हनी ट्रैप मामले में एसआईटी के जारी नोटिस का जवाब देंगे। उन्होंने कहा, “(हनीट्रैप कांड की) यह पेन ड्राइव मेरे पास कहां है? यह तो आपमें (पत्रकारों) से बहुत लोगों के पास है। यह पेनड्राइव तो पूरे प्रदेश में घूम रही है।” कमलनाथ ने यह भी कहा कि उन्होंने हनीट्रैप कांड को लेकर पेन ड्राइव की राजनीति कभी नहीं की। उन्होंने हालांकि कहा कि उस समय उनके मुख्यमंत्री होने के कारण पुलिस उन्हें इस मामले में जांच की प्रगति के बारे में स्वाभाविक रूप से अवगत कराती रहती थी।



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई


You may have missed

0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x