संतान प्राप्ति के वे उपाय जो आपको जरुर लाभ देंगे

0
11

आज हम संतान प्राप्त करने के ज्योतिषीय उपाय के बारे में जानेगे. शादी होते ही हर जोड़ें की ख्वाहिश होती है की वो माता-पिता बने. परिवार का हर सदस्य चाहता है की उनके घर में नया मेहमान जल्दी से आएं. लेकिन कई बार ऐसा होता है की आपके परिवार में यह नन्हा सदस्य आने में बहुत देर लगाता है. सब कुछ सही होते हुए भी समझ नहीं आता की क्या करें.

उस जोड़ें के बीच में भी कई परेशानिया पैदा होने लगती हैं. चिडचिडापन आने लगता है. पर समस्या वैसे की वैसे ही बनी रहती है. संतान पैदा न होने की वजह कोई भी हो सकता है स्त्री भी पुरुष भी या दोनों भी. इसलिए किसी एक को इसके लिए जिम्मेदार न माने. डॉक्टर के उपाचार के साथ – साथ आप ज्योतिष की भी मदद इस परेशानी से निपटने के लिए जरुर लें. हो सकता है की आपको फायदा हो जाए. विश्वास ही आपके रिश्ते को इस समस्या को दूर करने का रास्ता है. संतान प्राप्त करने के ज्योतिषीय उपायों को भी आप अपना सकते हैं.

आज हम इस आलेख में बात करते है संतान प्राप्त करने के ज्योतिषीय उपायों के बारे में. कौन-कौन से ज्योतिषीय उपाय आपकी मदद कर सकते हैं.

मदार की जड़ – शादी होने के १०-१२ साल बाद भी आपकी गोद सुनी है तो मदार जिसे आकड़ा भी कहते हैं की जड़ को शुक्रवार को उखाड़ कर घर लें आएं. फिर आप जब भी संतान प्राप्ति के लिए सम्बन्ध बनाएं. आप उस जड़ को अपनी कमर पर बाँध लें. स्त्री अवश्य ही गर्भवती हो जाएगी।

दूध के दांत – संतान प्राप्ति के लिए आप किसी भी ऐसे बच्चे के दूध के दांत को लेकर घर आएं. फिर उस दातं को सफेद कपड़ें में लपेटकर अपनी बाए हाथ में बाँध लें. और रोज सवेरे सूर्य उदय से पहले संतान प्राप्ति बाल कृष्ण का ध्यान पन्द्रह मिनट तक नियमित करें. ऐसा करने से संतान प्राप्ति के योग बन्ने लगते है.

चांदी की एक बांसुरी – कई बार ऐसा होता है की आपका गर्भ धारण हो जाता है लेकिन बीच में ही बच्चा गिर जाता है आपके नौ माह पुरे नहीं हो पाते. इस स्थिति से निपटे के लिए आप जब गर्भ धारण हो गया हो, तो चांदी की एक बांसुरी बनाकर राधा-कृष्ण के मंदिर में पति-पत्नी दोनों गुरुवार के दिन चढ़ायें तो गर्भपात का खतरा नहीं होता है. राधा-कृष्ण आपके संतान की रक्षा करेगे.

गोमती चक्र – यदि बार-बार गर्भपात होता है, तो शुक्रवार के दिन एक गोमती चक्र लाल वस्त्र में सिलकर गर्भवती महिला के कमर पर बांध दें। गर्भपात नहीं होगा।

शहद – इसके अलावा आप इस उपाय को भी अपना सकती है. यदि बच्चे न होते हों या होते ही मर जाते हों, तो मंगलवार के दिन मिट्टी की हांडी में शहद भरकर श्मशान में दबायें। ऐसा करने से भी संतान के योग आपके जीवन में बन्ने लगते हैं.

संतान प्राप्ति के लिए मंत्र – संतान प्राप्ति के लिए आप अपने जीवन में मंत्रो का सहारा भी ले सकती है. आप नीचे दिए गए किसी भी मन्त्र की एक माला जपें. ऐसा करने से आपको लाभ होगा. याद रखें आप जिस मन्त्र का चुनाव करें उसको नियमित एक ही समय पर जपे. समय कितना भी लगे पर अपनी आस्था बनाएं रखें. जब भी आप इन मन्त्रों का जाप करें उस समय आपके सामने कृष्ण के बाल रूप का चित्र लगा हो. क्रम संख्या 4 व 5 पर दिए गये मंत्र शीघ्र फलदायक हैं। इन्हें संतान गोपाल मंत्र भी कहा जाता है।

– ओऽम् नमो भगवते जगत्प्रसूतये नमः।

– ओऽम क्लीं गोपाल वेषघाटाय वासुदेवाय हूं फट् स्वाहा।

– ओऽम नमः शक्तिरूपाय मम् गृहे पुत्रं कुरू कुरू स्वाहा।

– ओऽम् हीं श्रीं क्लीं ग्लौं।

– देवकी सुत गोविन्द वासुदेवाय जगत्पते। देहिं ये तनयं कृबज त्यामहं शरणंगत।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here