Home ताज़ा दिल्ली के कांग्रेस नेताओं में समझ की है कमी, ये है वजह

दिल्ली के कांग्रेस नेताओं में समझ की है कमी, ये है वजह

16 second read
Comments Off on दिल्ली के कांग्रेस नेताओं में समझ की है कमी, ये है वजह
0
46

महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के लिए कुछ भी ठीक ठाक नजर नहीं आ रहा। चुनावों में टिकट बंटवारे को लेकर पार्टी में बगावत के सुर सुनाई देने लगे हैं। इन दोनों ही प्रदेश में नेताओं ने खुलकर सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं। एक दिन पहले ही महाराष्ट्र कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम ने इशारों-इशारों में पार्टी छोड़ने की धमकी तक दे डाली थी। और अब उन्होंने पार्टी आलाकमान पर जमकर हमला बोला है।

दऱअसल महाराष्ट्र चुनाव में कांग्रेस के लिए प्रचार नहीं करने के ऐलान के एक दिन बाद संजय निरुपम ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। चुनाव में अपनी पसंद के उम्मीदवारों को टिकट नहीं दिए जाने से नाराज निरुपम ने कांग्रेस आलाकमान को जमकर खरी-खोटी सुनाई। उन्होंने कहा कि दिल्ली में बैठे लोगों में समझ की कमी है। पार्टी ने योग्य लोगों के साथ न्याय नहीं किया। निरुपम ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ जुड़े लोग साजिश रच रहे हैं। निरुपम यहीं नहीं रुके, कांग्रेस नेताओं पर सवाल उठाते ही, कांग्रेस नेता ने कहा कि राहुल गांधी से जुड़े लोगों को पार्टी में अलग-थलग किया जा रहा है। अगर ऐसा ही चलता रहा, तो वो लंबे समय तक कांग्रेस में नहीं रह पाएंगे। बकौल निरूपम कांग्रेस में अब फीडबैक सिस्टम खत्म हो गया है।

इस दौरान संजय निरुपम ने महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रभारी मल्लिकार्जुन खड्गे पर भी जमकर निशाना साधा। निरूपम ने कहा कि खड्गे ने हमारे उम्मीदवारों से बात नहीं की। मुंबई में संजय निरूपम का कोई अस्त्तित्व न हो, इसलिए दिल्ली में साजिश रची जा रही है। मेरे खिलाफ एक रिबेल एक्टिविटी चलती रहे, ऐसी साजिश बनाई गई। मुझे लोकसभा चुनाव से ठीक पहले मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटाया गया, अपमानित किया गया।

पार्टी नेतृत्व को चापलूसी से दूर और बंद कमरे में राजनीति करने वालों से बचना होगा। उन्होंने दावा किया कि अच्छे उम्मीदवार को टिकट नहीं दिया गया, इसलिए अशोक चव्हान भी परेशान हैं। चुनाव लड़ने की पार्टी की कोई तैयारी नहीं हैं, कोई स्ट्रेटेजी नहीं है। कांग्रेस का पूरा मॉडल ही दोषयुक्त है। उन्होंने कांग्रेस आलाकमान पर मुस्लिम समाज को दरकिनार करने का आरोप लगाया और इस पर सवाल उठाते हुए कहा कि ये ठीक नहीं। उन्होंने कहा कि पार्टी को सीखना पड़ेगा और बदले हुए माहौल के हिसाब के साथ काम करना होगा, अगर नहीं सुधरे तो कांग्रेस तबाह हो जाएगी।

Facebook Comments
Comments are closed.

Check Also

क्या हरियाणा में बीजेपी की उम्मीदों पर फिरने वाला है पानी ? क्या मोड़ लेगी हरियाणा की राजनीति…

हरियाणा की गद्दी पर कौन बैठेगा, इसका पता 24 अक्टूबर को बता चल जाएगा। चुनाव बाद सामने आए एग…