15 June 2021

Covishield Vaccine Side Effects Of Blood Cloting Government Issues Advisory Covid 19 – कोरोना वैक्सीन के बाद अगर दिखाई दें ये लक्षण तो हो जाइये सावधान, स्वास्थ्य विभाग ने दी चेतावनी

देश में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। इस वायरस की चपेट में प्रतिदिन लाखों लोग आ रहे हैं, तो वहीं, सैकड़ों लोगों की जान जा रही है। देश में वैक्सीनेशन का काम भी जोरों पर है। हालांकि, वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स को लेकर लोग काफी घबराए हुए हैं। दरअसल, कुछ लोगों में कोविशील्ड वैक्सीन लगवाने के बाद ब्लड क्लॉटिंग की समस्या हो रही है। जिसके लेकर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने एडवाइजरी जारी की है।

इस एडवाइजरी में सरकार ने कोविशील्ड वैक्सीन लगवाने के 20 दिन के भीतर ब्लड क्लॉट के लक्षण को पहचानने की अपील की है। अगर यदि कोई गंभीर लक्षण नजर आते हैं, तो तुरंत सेंटर पर जाकर सूचना दर्ज करवाएं।

सरकार ने एडवाइजरी में दी ये सलाह:

-वैक्सीनेशन के बाद अगर आपको तेज सिरदर्द, छाती में दर्द, उल्टी, पेट दर्द, उल्टी के बिना पेट दर्द, शरीर में सूजन, सांस लेने में तकलीफ या फिर दौरे जैसे लक्षण दिखाई दे रहे हैं, तो इस बात की सूचना तुरंत सेंटर पर दर्ज करवाएं।

-वैक्सीन के बाद अगर शरीर के किसी भी हिस्से पर लाल रंग के धब्बे नजर आ रहे हैं, तो आपको सावधान हो जाना चाहए। हालांकि, अगर इंजेक्शन साइट पर धब्बे हैं, तो इसमें घबराने वाली बात नहीं है।

-माइग्रेन की समस्या ना होते हुए भी यदि आपको उल्टी के साथ या फिर उल्टी के बिना ही सिर में तेज दर्द हो रहा है, तो यह गंभीर लक्षण हो सकता है। इसकी रिपोर्ट तुरंत वैक्सीनेशन सेंटर पर दर्ज करवाएं।

-वैक्सीन लेने के बाद अगर शरीर का कोई अंग काम करना बंद कर दे, या फिर लगातार उल्टी आ रही हो। इसके अलावा आंखों में दर्द या फिर धुंधला दिखाई देना। मूड स्विंग्स और डिप्रेशन जैसी समस्याएं आने पर भी तुरंत एक्सपर्ट की सलाह लेनी चाहिए। क्योंकि, यह लक्षण जानलेवा साबित हो सकते हैं।

बता दें, वैक्सीन के साइड इफेक्ट को लेकर बनी राष्ट्रीय समिति ने कहा है कि कोविशील्ड लगवाने के बाद ब्लड क्लॉटिंग के बेहद ही कम मामले सामने आए हैं। भारत में 10 लाख डोज पर ब्लड क्लॉट के केवल 0.61 फीसदी मामले ही देखे गए हैं। खबरों की मानें तो ब्लड क्लॉटिंग के ये मामले वैक्सीन लगवाने के एक हफ्ते के बाद देखे गए हैं। इसलिए स्वास्थ्य विभाग ने वैक्सीन लगवाने के 28 दिन के भीतर इस तरह के मामलों को रिपोर्ट करने की अपील की है।



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई


You may have missed

0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x