15 June 2021

coronavirus vaccine how to book a slot on the CoWin Appकोरोना टीका पाना बना बड़ा टास्क! CoWin App पर स्लॉट बुक करने का क्या है सही वक्त? जानें- जरूरी बातें

देश में इस समय कोरोना महामारी की दूसरी लहर चल रही है। जिसके चलते लॉकडाउन और ऐसे ही सख्त कदम राज्य सरकारों की ओर से उठाए गए हैं। देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच लोगों को महामारी से इम्यून करने के लिए टीकाकरण का काम भी जारी है। इस समय देश में लोगों को मुख्य तौर पर तीन वैक्सीन लगाई जा रही हैं। जिसमें भारत बायोटैक की कोवैक्सीन, सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड और रूस की वैक्सीन स्पुतनिक शामिल हैं।

देश की 130 करोड़ आबादी को टीका लगाना अपने आप में एक बहुत बड़ी चुनौती है। लेकिन सरकारों की ओर से वैक्सीनेशन सेंटर पर लगातार इस काम को करने की कोशिश की जा रही है। कई राज्यों ने वैक्सीन का स्टॉक कम होने की शिकायत भी की है। इस बीच लोगों के मन में सबसे बड़ा सवाल ये है कि वे खुद का वैक्सीनेश कैसे कराएं? अपने फोन पर कोविन ऐप तो सब इंस्टॉल कर पा रहे हैं लेकिन वैक्सीन के लिए स्लॉट मिलने में खास मुश्किल पेश आ रही है।

कोरोना टीकाकरण से जुड़ी जरूरी बातों की जानकारी यहां दी जा रही है। जिसकी मदद से आप कोविड वैक्सीनेशन का काम काफी आसानी से कर सकेंगे:

1. चाहे 18 से अधिक आयु के लोग हों या 45 से ज्यादा के सभी कोविन या आरोग्य सेतु ऐप से खुद को रजिस्टर कर सकते हैं और खुद के टीका लगवाने का स्लॉट बुक करा सकते हैं। आपका नजदीकी वैक्सीनेशन सेंटर बताने के लिए ऐप आपसे आपका पिनकोड पूछेगा। दूसरा ऑपशन है , जिसमें आपको आपके जिले के सभी वैक्सीनेश सेंटर की लिस्ट दिखाई देगी। इसमें से आपको आपका नजदीकी वैक्सीनेशन सेंटर चुनना होगा।

2. खास बात ये है कि किसी भी दिन वैक्सीनेशन सिर्फ उन लोगों का होगा जिन्होंने खुद के लिए पहले वैक्सीन लगवाने का स्लॉट बुक कराया है। ऐसा करने वालों को एडवांस में मैसेज आता है कि आपको इस दिन वैक्सीन लेने आना है। वैक्सीनेशन सेंटर पर वैक्सीन लेने वालों की सूची लगी रहती है। अगर कोई व्यक्ति तय दिन पर वैक्सीन लेने नहीं पहुंचता है तो उसे इस बाबत फोन भी किया जाता है।

3. वैक्सीनेशन की प्रक्रिया में सबसे बड़ी मुश्किल स्लॉट बुक करने में है। क्योंकि हर रोज सुबह 9 से 11 के बीच वैक्सीनेशन के लिए स्लॉट बुक होते हैं। यह कुछ केबीसी के फास्टेस्ट फिंगर फर्स्ट की तरह होता है। जिन्होंने पहले स्लॉट बुक कर लिया। वैक्सीनेशन उनका पहले होगा।

4. जिन लोगों के सर्टफिकेट डाउनलोड नहीं हो पा रहे हैं, ऐसा तकनीकी वजह से हो रहा है। जल्द वे भी सर्टिफिकेट पा सकेंगे।

5. यहां साफ कर दें कि कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेनी जरूरी है। एक डोज लेकर लापरवाह न हों। दोनों डोज लें और खुद को और बाकी लोगों को सुरक्षित रखें।

6. पहली खुराक से दूसरी खुराक की समय अवधि की बात की जाए तो कोविशील्ड के मामले में इस अवधि को 100 दिन कर दिया गया है। जबकि कोवैक्सीन के मामले में फिलहाल ये अवधि 28 दिन की ही है।

7. कोविशील्ड वैक्सीन के मामले में जिन लोगों ने 16 जनवरी से पहले खुराक ली थी वे पहले के टाइम इंटरवल के हिसाब से दूसरी डोज ले सकते हैं लेकिन जो लोग 16 जनवरी के बाद कोविशील्ड की पहली खुराक ले चुके हैं उन्हें 100 दिन का इंतजार करना होगा।

8. जो लोग पहली खुराक लेने के बाद भी संक्रमित हो गए हैं। वे पहले कोरोना नेगेटिव हो जाएं फिर उसके बाद ही दूसरी खुराक लें।

9. यहां साफ कर दें कि कोरोना संक्रमित होने के बाद भी ठीक होने पर अपना टीकाकरण पूरा करें। लापरवाही न बरतें।

10. खास बात ये है कि वैक्सीन का स्लॉट न मिलने के चक्कर में हड़बड़ी न करें। अगर आपने पहली खुराक किसी एक वैक्सीन की ली है तो दूसरी खुराक भी उसी वैक्सीन की ही लें। ऐसा न करें कि एक खुराक किसी वैक्सीन की और दूसरी खुराक किसी और वैक्सीन की।




You may have missed

0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x