Home लाइफस्टाइल जाने विटामिन बी-6 क्यों जरूरी है, हमारे शरीर के लिए

जाने विटामिन बी-6 क्यों जरूरी है, हमारे शरीर के लिए

9 second read
vitamin b6

हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए अनेक प्रकार के पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। इन्हीं पोषक तत्व जैसे प्रोटीन, विटामिन और मिनरल पदार्थों के द्वारा ही हमारे शरीर में अनेक प्रकार की जैव रासायनिक क्रियाएं सुचारू रूप से संपन्न हो पाती हैं और हमारा शरीर स्वस्थ रहता है। हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता हमारे मानसिक स्वास्थ्य और शारीरिक ऊर्जा मुख्य रूप से हमारे भोजन हमारे भोजन से प्राप्त पोषक तत्वों द्वारा ही संभव हो पाती है। इन्हीं पोषक तत्वों में एक महत्वपूर्ण विटामिन में एक महत्वपूर्ण विटामिन, विटामिन बी-6 है, जिसे पेरिडॉक्सीन के नाम से भी जाना जाता है। अक्सर हम लोग विटामिन बी-6 के महत्व को कम करके आंकते हैं।

विटामिन बी 6 एक जल में घुलनशील विटामिन की श्रेणी में आता है जो हमारे शरीर की अनेक क्रियाओं जैसे जैसे जैसे रक्त का निर्माण, प्रोटीन एवं वसा का मेटाबॉलिज्म तथा मस्तिष्क के आवश्यक न्यूरोट्रांसमीटर के निर्माण हेतु आवश्यक है।

विटामिन बी 6 लाभ

आज के दौर में अनेक प्रकार की शारीरिक एवं मानसिक समस्याएं जैसे हार्मोन असंतुलन डायबिटीज एवं उच्च रक्तचाप तथा मानसिक समस्याएं लोगों में तेजी से बढ़ रही हैं। आज के दौर में लोगों का भोजन असंतुलित हो गया है और भोजन में हरी सब्जियों की मात्रा कम हो गई है । इसके अलावा खाना पकाने और फूड प्रोसेसिंग के दौरान भी भोजन में से विटामिन बी 6 कम हो जाता है। विटामिन बी 6 के लाभ किस प्रकार से  हैं।

vitamin b6

  1. विटामिन बी 6 हमारे मस्तिष्क में आवश्यक न्यूरो केमिकल्स जैसे सेरोटोनिन डोपामाइन और गाबा आदि के निर्माण के लिए आवश्यक है। हमारे मस्तिष्क की आवश्यक क्रियाएं इन्हीं इन्हीं न्यूरो केमिकल्स के माध्यम से संपन्न होती हैं। अनावश्यक न्यूरो केमिकल्स केमिकल्स की कमी से मनुष्य में डिप्रेशन याददाश्त में कमी जैसी समस्याएं आती हैं। अनेक घातक बीमारियों जैसे पार्किंसन और अल्जाइमर रोग भी इन्हीं न्यूरोकेमिकल के असंतुलन के कारण उत्पन्न होता है। अगर सरल शब्दों में कहें तो विटामिन बी 6 हमें प्रसन्न रहने और हमारी याददाश्त एकाग्रता आदि सभी के लिए आवश्यक है।
  2. विटामिन बी 6 हमारे ह्रदय के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। विटामिन बी-6 हमारे रक्त वाहिकाओं में कोलेस्ट्रॉल के जमाव को कम करता है और उन्हें चोक होने से बचाता है। इसी कारण पर्याप्त मात्रा में विटामिन बी-6 युक्त आहार लेने से हृदय आघात होने की संभावनाएं कम हो जाती हैं।
  3. विटामिन बी-6 हमारे शरीर में इन्फ्लेमेशन को कम करने में मदद करता है। विटामिन बी-6 शरीर में इन्फ्लेमेशन कारक प्रोटीन होमोसिस्टाइन को कम करने में मददगार होता है । यदि शरीर में विटामिन बी- 6 की मात्रा पर्याप्त नहीं होती है तो होमोसिस्टाइन तय सीमा से अधिक हो जाता है जिसके कारण लंबे समय में अनेक रोग जैसे अस्थमा, अर्थराइटिस, डायबिटीज ,थायराइड संबंधी रोग होने की संभावनाएं पैदा हो जाती हैं।

इसी प्रकार शरीर के अनेकों रासायनिक प्रक्रियाओं में विटामिन बी-6 मुख्य कारक के रूप में मौजूद होता है । अतः विटामिन बी 6 की पर्याप्त मात्रा प्रतिदिन भोजन में होना आवश्यक है। हमारे भोजन में प्रतिदिन 1 से 2 मिलीग्राम विटामिन बी- 6 आवश्यक है।

अनेक प्रकार के शाकाहारी एवं मांसाहारी भोज पदार्थों में विटामिन बी-6 पाया जाता है जिसमें से प्रमुख हैं दूध, अंडा, मछली, पालक, गाजर, केला, पपीता चना आदि।

शरीर में विटामिन बी 6 की कमी होने पर डॉक्टर की सलाह से सप्लीमेंट भी लिए जा सकते हैं ।

Load More Related Articles
Load More By Anjali pandey
Load More In लाइफस्टाइल

Check Also

मूवी रिव्यु: एक और हिट में अपनी उपस्थिति दर्ज कराती कंगना की फ़िल्म पंगा

आजकल मसाला मूवी की भरमार है जिसमे आपको तड़क- भड़क गाने के साथ दमदार डायलॉग सुनने को भी मिल ज…